राष्ट्रीय

अनुच्छेद 35ए को लेकर महबूबा मुफ़्ती ने दी धमकी

जम्मू : अनुच्छेद 35ए को लेकर महबूबा मुफ़्ती ने दी धमकी. महबूबा ने कहा 35ए के साथ छेड़छाड़ करना बारूद को हाथ लगाने के बराबर होगा। वह बोलीं जो हाथ 35ए के साथ छेड़छाड़ करने के लिए उठेगा वो हाथ ही नहीं वो सारा जिस्म जल के राख हो जाएगा। मालूम हो जम्मू कश्मीर में शांति बरक़रार रखने के लिए केंद्र ने सुरक्षा बलों की अतिरिक्त तैनाती की बात की थी जिसका विरोध महबूबा ने किया था. जिसके बाद उनके इस बयान के कई मतलब निकले जा रहे है.

गौरतलब हो राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल अचानक से घाटी के दौरे पर बुधवार को श्रीनगर पहुंचे थे। वहां उन्होंने सुरक्षा और खुफिया एजेंसियों के टॉप ऑफिसरों के साथ अलग-अलग बैठकें की थीं। इससे पहले पुलवामा हमले के बाद 24 फरवरी को देशभर से केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की 100 कंपनियों को कश्मीर भेजा गया था। अमरनाथ यात्रा की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था पर भी महबूबा ने विरोध जताया था। बताना चाहेंगे जम्मू-कश्मीर में अभी राज्यपाल शासन है।

महबूबा ने केंद्र के अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनाती के फैसले को लोगों में भय का माहौल पैदा करने वाला करार दिया था. उन्होंने कहा था की जम्मू-कश्मीर का मामला राजनीतिक है। इसे सेना से नहीं सुलझाया जा सकता। महबूबा ने कहा था कुछ लोग कश्मीर में अनुच्छेद 35ए को भंग करने की तैयारी कर रहे है. यह अनुच्छेद जम्मू-कश्मीर राज्य की विधायिका को शक्ति प्रदान करता है और उन स्थायी निवासियों को विशेषाधिकार प्रदान करता है तथा राज्य में अन्य राज्यों के निवासियों को कार्य करने या संपत्ति के स्वामित्व की अनुमति नहीं देता है।

बतादें गृह मंत्रालय के इस फैसले से कयास लगने लगे हैं कि अनुच्छेद 35ए को हटाया जा सकता है। इससे पहले राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने 25 जुलाई को मोदी सरकार से सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करने को कहा था। कोर्ट में अनुच्छेद 370 और 35ए को चुनौती देने वाली याचिकाएं लंबित हैं। वहीं, राज्य की नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी, जम्मू-कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट और राज्य के सभी क्षेत्रीय दलों ने अनुच्छेद 370 और 35ए से छेड़छाड़ का विरोध किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button